Web Hosting Kya hai ? Web Hosting Types 2020

Web Hosting Kya hai

What is Web Hosting? Web Hosting Explained for Beginners

Web Hosting Kya hai ? Web Hosting Types 2020 ? Web Hosting Types और isme Kya Features hona chahiye ? इन सभी Topic पर आज हम चर्चा करेंगे।

आज Internet का जमाना है। Every one Know कि अगर आपको किसी भी Information की Need है, तो कंप्यूटर या मोबाइल में ब्राउज़र खोलें। यदि आप खोजना चाहते हैं, तो Search Engine  में Topic लिखें, संबंधित विषयों की Website की एक सूची दिखाई देगी।

और यदि Website का Domain नाम Pata है, तो सीधे URL में टाइप करें, जैसे ही आप Enter Botton  दबाएंगे Website स्क्रीन पर आ जाएगी।

लेकिन जब अपना खुद का Blog या Website बनाने की बात आती है। इसलिए हमें इसके बारे में भी आगे जानना चाहिए। Blog बनाने के लिए सबसे पहले हमें अपने Blog के Topic को जानना होगा।

इसके बाद, आपको एक Domain नाम चुनना और खरीदना चाहिए। और फिर आपको Hosting Plan Purchase Karna चाहिए। लेकिन वेब Hosting why  इसकी क्या जरूरत है? इसका ans है, हम अपने Blog or Website  में जो भी Post लिखेंगे, वह Photo या Video डालेंगे, जहां स्टोर होगा। और इसका प्रबंधन (handle)कौन करेगा…?

आइये जानतें हैं कि – Web Hosting Kya Hai ?

Web Hosting Kya Hai ? (Define )

Web Hosting एक Service है जिसके द्वारा किसी भी Website को Web Server पर Content Files जैसे – Coding, Images, Videoes आदि के लिए Storing Space उपलब्ध किया जाता है। साथ ही अन्य तकनिकी सुविधा उपलब्ध की जाती है जिससे Website को Internet पर Fast और Secure सुविधा सही समय पर आसानी से उपलब्ध हो सके।

जिस प्रकार किसी भी Computer को उसके Processor के नाम से जाना जाता है। Hosting Services को उसके Hosting Server के नाम से जाना जाता है।

प्रत्येक Web Hosting Company के अलग – अलग कई Plans होते है , और उसी के अनुसार उनकी Cost होती है। जिसके साथ Company Server की छमता के अनुरुप अन्य Features भी Plan में सम्मलित करती है।

यदि हम Blog या Website बनाते हैं तो हमें Hosting Plan लेना ही होगा। कौन सा Plan ले यह हमारी Website की आवश्यकता पर निर्भर करता है। क्यूँकि Hosting Company के पास एक Small Website या Blog से लेकर Big E-Commerce Site तक के लिए Plan होतें हैं। अधिक Information के लिए Web Hosting Services Wikipedia पढ़ें।

सही Plan लेने के साथ सही Hosting Company के साथ चुनाव करना बहुत महत्त्वपूर्ण है। क्यूँकि यह One Time Buying Product नहीं होता। हमारी Website को Web Hosting Company से 24 X 7 X 365 Performance की अपेछा होती है।

ऐसे में यदि Hosting Company हमारे खरीदे गए Plan के अनुसार खरी नहीं उतरी तो हमें नुकशान हो सकता है। Hosting Company एवं उसके Plan का Chose करते समय हमें विशेष सावधानी रखनी चाहिए। अब Web Hosting Kya Hai ? यह जाननें के बाद बारी आती है , Web Server की।

Web Server क्या है ?

web hosting

Server एक Higher Capacity का Computer System है , जिस पर Server Software (OS ) Runn होता है। Hosting Website का सारा Content इस पर Save रहता है। इसके माध्यम से Internet पर Connected सारे World के Computers हमारी Website के Content को Online प्राप्त कर सकतें हैं।

जैसा की हम जान चुके हैं कि Web Hosting Company अपने प्रत्येक Plan को उसमे Use किये जाने वाले Server के नाम से Sell करती है। आइये Web Hosting Plans के विषय में Detail से जानतें हैं –

 

Google Tag Manager Setup Kaise Kare? Google Tag Manager Kya Hai

 

Hosting के प्रकार ( Server Based ) :

Hosting के प्रकार को उस पर उपयोग होने वाले Server पर आधारित होता है। और उसी के अनुसार उसकी कीमत निर्धारित की जाती है। हमें अपनी Website या Blog में कौन सा Hosting Plan लेना चाहिए, इसके लिए Web Hosting के प्रकार जानना जरुरी है। आइये जानतें है की Web Hosting के प्रमुख कितने प्रकार होते हैं –

Shared Web Hosting :

जब आपकी Website के साथ कई अन्य Website को आपके ही Server पर Host किया जाता है तो इसे Shared Web Hosting कहतें हैं। इसे Entry Level Website Owners के लिए Design किया गया है।

इसका Use Personal Blog / Website से लेकर छोटे या मध्यम आकार के Business Blog / Website तक किया जा सकता है। Shared Web Hosting को Setup करना सबसे आसान होता है।

लेकिन इसमें Low Traffic Handling Capacity होती है। और इसीलिए यह सबसे सस्ती Web Hosting Service है। अतः यदि आप Blogging या Website की शुरुआत कर रहें हैं तो यह उपयुक्त Option होता है। भविष्य में Traffic बढ़ने पर अपनी Website या Blog को दूसरे Web Hosting में Shift कर सकतें हैं। अधिक Information के लिए Shared Web Hosting Service Wikipedia पढ़ें।

Shared Web Hosting उपयोग से लाभ :

  • Easy Setup Process
  • Ready Made Configuration Process
  • Easy Control Panel
  • Lowest Price

Shared Web Hosting उपयोग से हानि :

  • Server पर Host अन्य Website पर Traffic ज्यादा होने पर हमारी Site Slow Load होती है।
  • Server Setting पर सीमित Option उपलब्ध होते हैं।

VPS Hosting :

Virtual Private Server (VPS) को Virtual Dedicated Server (VDS) भी कहतें हैं। VPS Hosting को Shared Hosting से अच्छा माना जाता है।

वास्तव में यह Shared Hosting ही है। लेकिन इसमें प्रत्येक Hosting Website को अलग Dedicated Virtual Partition किया जाता है। जिससे अन्य Hosted Websites पर Traffic Load होने पर भी उनका दुष्प्रभाव हमारी Site पर नहीं पड़ता। अतः यह कुछ हद तक Dedicated Server की तरह ही Behave करता है।

Bcoz इसमें हमें Configuration Access पर पूरा Control भी प्राप्त होता है। VPS Hosting का Use मुख्यतः उन Websites या Blog द्वारा किया जाता है जो कम कीमत पर Dedicated Hosting के कुछ Important Features प्राप्त करना चाहतें हैं। अधिक Information के लिए Virtual Private Server Wikipedia पढ़ें।

VPS Hosting उपयोग से लाभ :

  • Server पर Dedicated Space (Virtually) उपलब्ध होता है।
  • वास्तविक Dedicated Server से कीमत कम होती है।
  • Customization Setting उपलब्ध होती है।
  • Server Root Access उपलब्ध होता है।
  • अन्य Host Website का Traffic Load का दुष्प्रभाव हमारी Site पर नहीं पड़ता।

VPS Hosting उपयोग से हानि :

  • Shared Hosting से Price ज्यादा होती है।
  • Server Customization Setting का ज्ञान आवश्यक है।

Dedicated Hosting:

Dedicated Hosting में Dedicated Servers का उपयोग किया जाता है। इसमें पूरा Server केवल आपकी Website को Host करता है। इसमें Server को पूरी तरह Customize किया जा सकता है। यह High Traffic Website के लिए उपयुक्त Hosting है। किन्तु इसकी Price Shared Hosting से काफी अधिक होती है। साथ ही इसमें Advanced Software की Help से Higher Secure Environment उपलब्ध होता है। अधिक Information के लिए Dedicated Hosting Service Wikipedia पढ़ें।

Dedicated Hosting उपयोग से लाभ :

  • Server Settings और Configuration पर पूरा नियंत्रण होता है।
  • Server Root Access संभव है।
  • Shared और VPS Hosting से Fast Content Load होता है।
  • ज्यादा Traffic Handle कर सकता है।
  • High Security Features उपलब्ध है।
  • ज्यादा विश्वसनीय होता है।

Dedicated Hosting उपयोग से हानि :

  • इसकी Price Shared और VPS Hosting से ज्यादा होती है।
  • Server को Operate करने के लिए Technical Expertise आवश्यक है।

Cloud Hosting :

सभी Web Hostings में Cloud Hosting को सबसे विश्वसनीय माना जाता है। Hosting Provider इसमें कई Web Servers को आपस में Inter-Connected करके एक Network बनाते है। इसे Cluster of Servers कहतें है। हमारी Website के Content और Files प्रत्येक Server के Cache Memory में उपलब्ध होता है।

जिससे यदि कोई एक या दो Server Down हो तब भी हमारी Website Down नहीं होती। साथ ही इसमें Unlimited Domain , Infinite Disk Space और Unmetered Bandwidth जैसी सुविधाएँ दी जातीं हैं। अधिक Information के लिए Cloud Hosting Wikipedia पढ़ें।

Cloud Hosting उपयोग से लाभ :

  • Website Downtime की समस्या नहीं होती।
  • एक या दो Server Fail होने पर भी Website पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता।
  • Price का निर्धारण उपयोग की गयी Bandwidth, Space आदि से किया जाता है।

Cloud Hosting उपयोग से हानि :

  • Price का सही पूर्व अवलोकन नहीं किया जा सकता।
  • Root Access पर पूरा नियंत्रण नहीं होता।
  • सामान्यतः इसकी Services Costly होतीं हैं।

WordPress Hosting:

WordPress Hosting एक प्रकार की Shared Hosting Service है। इसे मुख्यतः WordPress Website या Blog के लिए Design किया गया है।

इसमें Server की Configuration और Settings को WordPress CMS के अनुरुप बनाया गया है। WordPress Hosting में WordPress से सम्बंधित Features जैसे – WordPress Themes , Plugins, Cashing एवं Security Settings पहले से Pre-Installed होते है।

यह WordPress के सहयोग से Highly Customized Environment उपलब्ध करता है। जिससे WordPress Users को कम कीमत पर उपयुक्त Hosting Service प्राप्त होती है।

WordPress Hosting उपयोग से लाभ :

  • User Friendly होती है।
  • सामान्य Shared Hosting से Price कम होती है।
  • Free एवं Easy WordPress Installation उपलब्ध है।
  • Pre-Installed Themes एवं Plugins उपलब्ध है।
  • WordPress Tutorials एवं Customer Support उपलब्ध है।

WordPress Hosting उपयोग से हानि :

  • केवल WordPress Sites के लिए उपयुक्त है।
  • Basic Themes या Plugins Free हैं। परन्तु Premium Service के लिए Extra Fee Pay करना होता है।
  • WordPress CMS WordPress Themes एवं WordPress Plugins को Regular Updates करना होता है।

 

 

Blog me Meta Description Kaise Likhe ?Meta Description Kya Hai

Perfect Web Hosting में क्या Features होने चाहिए ?

  • Uptime Guarantee : एक अच्छे Hosting Server का Uptime 99% से ऊपर होना चाहिए।
  • Server Location: Hosting Server Location Target Audion’s से नजदीक होना चाहिए।
  • Bandwidth: हमारे चुने हुए Hosting Plan में पर्याप्त Bandwidth होनी चाहिए। जिससे Traffic ज्यादा होने पर भी Media Files जैसे Photos ,Video’s आसानी से load को सके।
  • Files Access Approval: Hosting Plans के द्वारा Pre या Easy Files Access Approval प्राप्त होना चाहिए। जिससे आवश्यकता होने पर Files पर जरुरी Modification कर सकें। जैसे – FTP, MySQL, .htaccess, SSH , PHP आदि।
  • Control Panel Dashboard : जिससे प्रतिदिन के आवश्यक कार्य खुद से Update कर सकें। Email Address, Account Password एवं अन्य Server Configurations और Settings आदि को बिना किसी External Technical Service के खुद कर सकें।
  • Multiple Domain Hosting : जिससे एक से अधिक Domains को उसी Hosting Plan पर Host कर सकें।
  • Security Consideration : आपका Hosting के द्वारा Website Security के पर्याप्त Features होने चाहिए। जिससे आपकी Site को Hackers या अन्य Insecure Access से बचाया जा सके।
  • Backup Support : आपकी Hosting में आपकी Site Backup का Option होना चाहिए। जिससे यदि कहीं कोई Problem हो तो आप पुराने किये गए Backup को Restore कर सकें।
  • Price : Web Hosting की Competitive Price होनी चाहिए। जिससे आप उसे Long Term के लिए Afford कर पायें।
  • Mobile Access : Mobile Devices पर Access उपलब्ध होना चाहिए।
  • Email on Domain : Hosting Service के द्वारा Email Support उपलब्ध हो जिससे आप अपने Domain का Professional Email Use कर सकें। जैसे [email protected]
  • Good Online Reviews : आपकी Hosting Company का अच्छा Brand Value होना चाहिए। तथा पहले से उपयोग करने वाले Users द्वारा Good Reviews या Ratings होनी चाहिए।
  • Industry Experience : आजकल हर दिन नयी Company Open हो रहीं हैं। ऐसे में यदि साल दो साल बाद किसी कारण से Web Hosting Service Expire हो जातीं हैं तो उनके Customers को बड़ी असुविधा होती है। पुरानी और Experienced Web Hosting ही चुनना चाहिए।
  • Number of Customers : आपकी Hosting Company में Customers की संख्या ज्यादा होनी चाहिए। इससे उसके सफल Products का आंकलन करने में मदत मिलती है।
  • Customer/Technical Support : आपकी Hosting Service के Trained और Professional Team के द्वारा 24X7 Customer support Avail होना चाहिए।

 

Web Hosting Kaise aur Kahan se Kharide?

वैसे तो Hosting Service उपलब्ध करने वाली बहुत सी Company Market में आ चुकी हैं। किन्तु यह किसी One Time Use करने वाले Product की तरह नहीं होता। सही Hosting चुनना कितना Important है यह हम already चर्चा कर चुके हैं।

अतः Hosting Company में ऊपर बताये गए सभी Features होने चाहिए। मेरे Research के अनुसार Hosting की मेरी Choice की Top 3 Companies हैं –

Bluehost में नए User को Free Domain का option उपलब्ध है। आपका मनचाहा Domain उपलब्ध है कि नहीं ? नीचे दिए Tool पर अभी Check करें। यह Free है।

 

Mobile में Wifi का Password कैसे देखे | How to check wifi password in mobile

संछिप्त निष्कर्ष ” Web Hosting Kya hai ? ”

Web Hosting Kya hai ? यह कैसे कार्य करता है ? Web Hosting के प्रकार ? और Perfect Web Hosting में क्या Features होने चाहिए ? को Step by Step बिंदुवार समझाया गया है। आशा करतें हैं कि – Post ” Web Hosting Kya Hai ? ” पसंद आया होगा। But फिर भी यदि कहीं कोई Doubt हो तो Comment Box में जरूर पूछेँ। यदि यह Information आपको उपयोगी लगी हो तो अपने परिचितों से Share करें।

Tags:

2 thoughts on “Web Hosting Kya hai ? Web Hosting Types 2020”

  1. Pingback: Web Crawling Kya Hai ? Seo-expose

  2. Pingback: Search Engine Indexing How To Get Google To Instantly Index Your New Website? Kaise Kare ? 2020

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *