How to Get Google to Instantly Index Your New Website? Kaise Kare ? 2020

Search Engine

Search Engine Indexing क्या है और यह कैसे काम करता है

 

आज हम जानेंगे – SEO me Search Engine Indexing Kya Hai ? Index Kaise Kare ? यह क्यों उपयोगी है ? Search Engines में Indexing करने की Complete Process, Hindi में।

पिछले Post में हमने Web Crawling के विषय में विस्तार से जाना। Search Engines के द्वारा, Crawling करने के बाद Next Step में, आपके ब्लॉग पर उपलब्ध Contents की Search Indexing करने का होता है।

वैसे तो Index शब्द से हम सब परिचित हैं। स्कूल के दिनों को याद करिये, जब हमें किसी पुस्तक पर किसी Chapter या Unit को खोजना होता था, तो उस पुस्तक के प्रारंभ में उपलब्ध Content Index से पृष्ठ संख्या कितनी आसानी से खोज लेते थे। या फिर यही कार्य पुस्तक के अंत में उपलब्ध Glossary में Alphabetical Order में देखा करते थे।

 

Search Indexing भी कुछ ऐसा ही है। अंतर सिर्फ इतना है, कि यहाँ पुस्तक के Page की जगह Web Page होतें हैं, सिमित और कम पृष्ठ संख्या जगह Billions of Web Page Search होतें हैं और Searching Time कुछ Seconds या कई बार Micro Seconds में हो जाता है। है ना कमाल की बात। और यह संभव होता है आज के Advanced Search Algorithms की मदत से, जिन्हें Search Engines जैसे Google, Bing आदि में प्रयोग किया जाता है। आइये जानतें हैं कि Search Engine Indexingआखिर है क्या ?

Search Indexing Kya Hai?

Search Engine Indexing

Search Engine Indexing द्वारा, आपके ब्लॉग के Web Pages को Crawl करने के बाद Content Analysis किया जाता है। साथ ही आपके Web Pages Index को Search Engine के Database में Stored भी किया जाता है। यह कार्य Search Algorithms की मदत से Automation Process से होता है।

Search Indexing

Indexing एक प्रक्रिया है, जिसके द्वारा Search Engines Web Pages की Information को Algorithms की सहायता से Structured एवं Organised करके Store करतें हैं। तथा User द्वारा Search Query होने पर Result को Fast Response के द्वारा दर्शातें हैं।

जब कोई User, Search Engine पर जाकर कोई Search Query Generate करता है, तो Database पर Index किये हुए Web Pages से Query Content को Match किया जाता है। और Index Results को Search Ranking के लिए Send किया जाता है। Search Ranking के अनुसार ही SERP (Search Engine Result Page) Search Result पर दिखाये जातें हैं।

 

Search Database में आपके ब्लॉग के जैसे, Billions अन्य दूसरी Websites के Search Engine Indexing भी की हुई होती है। SERP में Best Analysed Content की Ranking Higher Show होती है। यदि किसी Website या Blog का Cache Content, Search Indexing Database में उपलब्ध नहीं है, तो वो Content, Search Result में Show नहीं होगा।

Search Indexing किस आधार पर होती है ?

Google Search Indexing के बात करें तो, इसमें Search Query पर पूछें गए प्रत्येक Keyword को Search Algorithms के द्वारा विभिन्न मापदंडों के अनुसार Sorting की जाती है। एक जैसे Web Pages को भी, उनके Content Quality, Quantity, Geographical Location, Hyperlinks, images, videos आदि के अनुसार Web Indexing Order निर्धारित की जाती है।

Content Quality :

Content is King. ये Phrase तो आप ने सुना ही होगा। अतः हमारे Blog पर लिखे गये Best Content को Search Algorithms के द्वारा Trace कर लिया जाता है। इसका Tracing Methodology Content पर प्रयोग किये गए Keywords Tracing के अनुसार होती है। Original Best Content को Higher Order Indexing की जाती है। जबकि Exactly Same या Duplicate Content की Low Indexing होती है।

Content Quantity :

कई बार Algorithms को Same Quality वाले Web Pages प्राप्त भी होतें हैं। ऐसे में ज्यादा Quantity या Words वाले Content को प्राथमिकता मिलती है। और ऐसे Web Pages की Search Indexing Higher की जाती है।

Geographical Location :

Google Search Engine Indexing में प्रत्येक Market के लिए Separate Index Data बनाया जाता है। वैसे तो इसके कई छोटे-छोटे Sub-Segments हैं। पर मुख्यतः इसे दो भागों में Analyse किया जाता है। जैसे –

  • Country Wise Indexes : Google Search Indexing में प्रत्येक अलग-अलग देशों के Servers पर, उपलब्ध उस देश के Web Pages के लिए Separate Indexing की जाती है। जैसे Indian Sites के लिए Google.co.in , U.S की Sites के लिए google.com, Japan की Sites के लिए google.co.jp आदि। Country Wise Indexing करने से वहाँ के Users के Behavior और Need के अनुसार Indexing करने से Exact Search Match होता है।
  • Local Index : Local Search Indexing में किसी Particular Area या City Based Indexing होती है। यह Google My Business की तरह कार्य करता है। तथा ऐसे Index में उस Area से बाहर के Users को Result Show नहीं किया जाता।

Web Crawling Kya Hai ? (और यह कैसे काम करता है) 2020

Hyperlinks :

Hyperlinks में Content से Related Backlinks वाले Web Pages को Search Indexing में प्राथमिकता दी जाती है। वहीं High-Quality Backlinks, Higher Domain और Higher Page Authority वाले Backlinks को अधिक Prefer किया जाता है।

 

Images & Videos :

Search Indexing में हमेशा ऐसे Contents जिनमे Images एवं Videos उपलब्ध होतें हैं, उन्हें Good Content माना जाता है। तथा ऐसे Web Pages की Indexing Order हमेशा High रहती है।

New Post URL की Google में Search Indexing कैसे करें ?

आपके द्वारा लिखे गए, New Post या Page को Google में Search Indexing करना अत्यंत आसान है। इसके लिए सर्वप्रथम आपका Blog या Website Google Search Console में Verify होनी चाहिए। तथा Google में आपके Blog का Sitemap Submit होना चाहिए। यदि अपने ये प्रक्रिया पूरी की हुई है। तो निम्न Steps को Follow करें।

  • Google Search Console पर Login करें।
  • Left Side Menu पर उपलब्ध URL Inspection Tool पर Click करें।
  • नये Post का URL ऊपर दिखाए गए Search Box पर Paste करें।
  • Processing के बाद Display होने वाले Page पर Request Indexing Option पर Click करें। आपके URL का Indexing Request Google में Submit हो जायेगा। तथा Priority के आधार पर Process कर दिया जायेगा।

 

Web Crawling Kya Hai ? (और यह कैसे काम करता है) 2020

conclusion:

उपरोक्त Post ” SEO me Search engine Indexing Kya Hai ? Kaise Kare ? ” में हमनें जाना की – Search Indexing Kya Hai ? Search Indexing किस आधार पर होती है ? और New Post URL की Google में Search Indexing कैसे करें ? यदि Post में कहीं कोई Doubt हो तो Comment Box में पूछें। साथ ही इस Post को Social Media पर शेयर करें। धन्यवाद।

Tags:

2 thoughts on “How to Get Google to Instantly Index Your New Website? Kaise Kare ? 2020”

  1. Pingback: Seo Kya Hai? Seo-expose

  2. Pingback: Google Webmaster Guidelines Seo-expose

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *