Google Tag Manager Setup Kaise Kare? Google Tag Manager Kya Hai

Google Tag Manager Kya Hai

Setup and install Tag Manager

Google Tag Manager Kya Hai ? Google Tag Manager Setup Kaise Kare ? Google Tag Manager me Google Analytics Add या Install करने के Benefits एवं अन्य Uses को आज हम जानेंगे Step by Step Hindi me

आप  Google Tag Manger के विषय में सुना तो बहुत पहले था। परन्तु इसे इस्तेमाल करने से बचता रहा। लगा इसे Use करना कठिन होगा। इसके बिना भी मेरा Blogging का कार्य सही तरीके से चल रहा था।

परन्तु जैसे-जैसे मेरा Blog बढ़ने लगा, मुझे Feel होने लगा कि की मेरा Blog Slow Load होने लगा था। मैंने कई अलग-अलग Website Speed Testing Tools जैसे – Google PageSpeed Insights, Pingdom Tools, GTmetrix पर कई बार अपने Blog की Speed Measure की। पर प्रत्येक बार निराशा ही हाथ लगी।

 

Google Tag Manager को क्यों Use करना चाहिए ?

Blog Loading Speed कम होने पर, जब मैंने काफी Research किया तो, जो Result आया वो चौकानें वाला था। होता यह है कि, समय के साथ हम अपने Blog या Webstie पर कई नए Tools, External Scripts, Tracking Codes आदि की संख्या बढ़ाते जातें हैं। जैसे – Google Analytics Tracking Code, Facebook, Twitter, Adwords, LinkedIn एवं अन्य Third Party Scripts आदि।

यह सारे Codes या Scripts, Browser पर आपके Site के Important Critical Path के साथ Load होतें हैं। ये सब अलग-अलग http Request Generate करतें हैं। जिससे आपकी Website की Loading Speed Slow हो जाती है। ऐसी समस्या से बचने के लिए Google Tag Manger उपलब्ध है। आइये जानतें हैं कि Google Tag Manager Kya hai ? यह Tag Management में क्यों उपयोगी है।

 

 

Google Tag Manager Kya hai ?

Google Tag Manager (GTM) एक Google Company के द्वारा Design किया गया Free to Use, Tag Management Tool है। इसे User Interface पर Tags को Create और Monitor करने के लिए बनाया गया है।

यह एक Common Script Generate करता है। इस Script को Blog में Paste करने के बाद हमें अन्य दूसरे Scripts को Blog में Paste करने की आवश्यकता नहीं होती। बल्कि यह उन अन्य Scripts को Tag के रुप में एक साथ Construct कर सकता है।

GTM के द्वारा, कई Third Party Tracking Tags को Combine करने के कारण Multiple http Request Generate नहीं होती। साथ ही Google Tag Manager Third Party Scripts Loading को asynchronous Order में Support करता है। जिससे हमारा Blog Fast Load होता है। अधिक जानकारी के लिए Tag Management System Wikipedia पढ़ें।

वास्तव में GTM Tracking Pixels (Tracking Codes) को एक ही जगह Tags के रुप में Structure करता है। इससे बड़ी आसानी से हमारी Website पर सारे External या Third Party Scripts को Monetize किया जा सकता है। आशा है Google Tag Manager Kya Hai ? इसका उत्तर आपको मिल गया होगा।और अधिक जानकारी के लिए पढ़ें – Google Tag Manager Features List

 

Google Tag Manger कैसे कार्य करता है ?

GTM के मुख्यतः तीन भाग होतें हैं।

  • Tags : यह Javascripts के Snippets या Tracking Pixels कहलाते हैं।
  • Triggers : यह Google Tag Manager को Tag Fire करने के तरीके को दर्शातें हैं।
  • Variables : यह Google Tag Manager को Tag पर उपलब्ध अतरिक्त Information देतें हैं।

 

Tags क्या हैं ?

Tags Third Party के द्वारा दिए गए Snippets या Tracking Pixels होतें हैं। GTM में Tags को Structure करने के लिए पहले से Tag Templates उपलब्ध हैं। बस हमें सम्बंधित Third Party Script को Select किये गए Tag पर Configure करना होता है। GTM में लगभग 90 by Default tag Templates हैं जैसे –

Google-Tag-Manager

  • Universal Analytics
  • Classic Google Analytics
  • Adwords Conversion Tracking
  • Adwords Remarketing
  • DoubleClick Floodlight Counter
  • Google Optimize
  • Custom HTML आदि।

 

GTM में उपलब्ध Template पर Tags को Configure करने पर, Third Party Code को आपके Website पर Add करने की कोई आवश्यकता नहीं है। यदि Third Party से सम्बंधित Template GTM पर उपलब्ध न हो, तो Custom HTML Option को चुने।

Triggers क्या हैं ?

GTM में Triggers के द्वारा, Tag को Fire करने का तरीका चुन सकतें हैं। जैसे – Paste किया गया Snippet कब Fire हो ? कौन से Page पर Fire हो ? कहाँ Click करने पर Fire हो सब कुछ चुना जा सकता है। यहाँ पर Trigger Type में Page View, Clicks एवं Events Select करने के कई Options उपलब्ध हैं। Trigger वास्तव में Set Of Rules होता है, जो Tag को Instruction देता है कि कब Fire करना है।

Google-Tag-Manager

GTM में Variables Kese kaam karta hai ?

GTM में Variables के द्वारा Tag की Extra Information Submit किया जाता है। जैसे – Variable Type या Tracking ID आदि। वास्तव में Variables ही वह Part है जहाँ पर Third Party Script की कोई जानकारी Paste करनी होती है। तब GTM, Paste की गयी Tracking ID या Value से जानकारी Find Out करता है।

Google-Tag-Manager

 

 

Google Tag Manager Setup Kaise Kare ?

Google Tag Manager Setup करना बहुत आसान है। आइये Google Tag Manager Setup करने की प्रक्रिया Step By Step जानतें हैं।

 

Step 1 : GTM के Official Page पर Visit करें।

Google Tag Manager Setup करने के लिए ,सर्वप्रथम इसके Google Tag Manager Official Page Visit करें। यहाँ Start for Free पर Click करके, अपने Gmail ID पर Login कर Password Type करें। यदि आपका Google Account नहीं है, तो Signup पर Click करके नया Google Account बनायें।

 

Step 2 : GTM में Account Create करें।

यहाँ Google Tag Manager Setup के लिए Create Account पर Click करें।

Google-Tag-Manager

 

Step 3 : Create Account का Form Fill करें।

यहाँ पर Basic Entries Feed करें। जैसे –

  1. Account Name : Company Name या Blog का Name Type करें।
  2. Country : Country Name Select करें।
  3. Container Name : यहाँ अपनी Website या Blog का नाम Type करें।
  4. Target Platform : यहाँ Web Select करें।
  5. Create : Create Button पर Click करें।

Google Tag Manager Setup3

 

Step 4 : GTM Terms of Service Agreement Select करें।

  1. I also Accept : Check Box पर Click करें।
  2. Yes Button : Yes Button पर Click करें।

Google-Tag-Manager

Step 5 : GTM Tracking ID Copy करें एवं Website पर Paste करें।

अब Workspace पर Top में आपको GTM Tracing ID दिखाई देगी। उस पर Click करने पर आपको GTM Code दिखेगा। यह दो भागों में उपलब्ध होता है।

  • <Head Tag> : इसके अंतर्गत दिया हुआ Code आपको Copy करके आपके Website के Head Tag के अंदर Paste करना है।
  • <Body Tag> : इसके अंतर्गत दिया हुआ Code आपको Copy करके आपके Website के Body Tag के अंदर Paste करना है।

Google-Tag-Manager

 

Website पर Code Paste करने के लिए आप कोई भी Method Use कर सकतें हैं। जैसे –

  • Theme Editor : WordPress Dashboard >> Appearance >> Theme Editor पर जाकर Code Paste कर सकतें हैं। किन्तु यह Option केवल Technical Users ही उपयोग करें।
  • Custom Layout : यदि आपकी Theme, Custom Layout Editing Support करती है , तो यह Best Option है। इसके लिए WordPress Dashboard >> Appearance >> Custom Layout पर जाकर, New Layout Create कर सकतें हैं। इसमें कोई Plugin Install नहीं करना होता।
  • Plugin Method : WordPress में Tag Management के लिए ढेरों WordPress Plugins उपलब्ध हैं। आप कोई भी Use कर सकतें हैं। Google Tag Manager WordPress Plugin सबसे उपयुक्त है। यह Free Plugin है। Plugin Method सबसे सरल तरीका है।

 

Google Tag Manager Me Google Analytics Tag कैसे Add करें ?

आप किसी भी External Script के लिए Tag Design एवं Manage कर सकतें हैं। उदाहरण के तौर पे, आज हम यहाँ पर Google Tag Manager me Google Analytics के Code को अपने Website या Blog पर Add करने के लिए Setup Process जानेंगे। Google Analytics के द्वारा हम अपने Blog के Traffic को आसानी से जान सकतें हैं।

इसके विषय में अधिक जानकारी के लिए पढ़ें – Google Analytics से Blog Traffic कैसे देखें। इसके साथ ही यदि आप Astra WordPress Theme Use करतें हैं, तो यह Method भी पढ़ें – Astra Theme में Google Analytics Add कैसे करें।

Step 1 : New Tab Create करें।

Google Tag Manager me Google Analytics Add करने के लिए सबसे पहले Workspace पर New Tag Create करें।

 

Google-Tag-Manager

Step 2 : Tag Name Select करके Tag Configuration पर Click करें।

Google Tag Manager me Google Analytics का Tab Name Select करें। आप कोई भी Name चुन सकतें हैं। साथ ही Tag Configuration पर Click करें। यहाँ से Default Tag Type चुन सकतें हैं।

Google-Tag-Manager

Step 3 : Google Tag Manager me Google Analytics Tag Type Select करें।

Google Tag Manager me Google Analytics के कई Tag by Default पहले से उपलब्ध हैं। इनमें से Google Analytics : Universal Analytics Select करें।

Google-Tag-Manager

 

Step 4 : Variable Configuration में Tracking ID Paste करें।

Google-Tag-Manager

Google Tag Manager me Google Analytics पर, Variable Configuration में आपको Google Analytics का Tracking ID Paste करना होगा। यह Tracking ID आपके Google Analytics के Account में Login करके Admin >> Tracking Info >> Tracking Code पर मिलेगी। वहाँ से Copy करके यहाँ Paste कर सकतें हैं।

Google-Tag-Manager

Step 5 : Triggering Option पर Firing Triggers Select करें।

Firing Triggers के द्वारा हम कहाँ पर Tracking ID काम करे, इसका निर्धारण कर सकतें हैं। यहाँ पर All Page Select करें।

 

Google-Tag-Manager

Step 6 : अंत में Tag को Save & Submit करें।

Google Tag Manager me Google Analytics पर, Submit Button पर Click करते ही आपका Tag Live हो जायेगा। और आप अपने Website या Blog का Traffic Analyze कर सकतें हैं।

संछिप्त निष्कर्ष “Google Tag Manager Kya Hai ” :

उपरोक्त पोस्ट ” Google Tag Manager Kya Hai एवं Google Tag Manager Setup Kaise Kare ? ” में हमने जाना कि – Google Tag Manager को क्यों Use करना चाहिए ? Google Tag Manager Kya Hai ? Google Tag Manger कैसे कार्य करता है ? जिसके अंतर्गत जाना कि Tags क्या हैं ? Triggers क्या हैं ? GTM में Variables कैसे कार्य करतें हैं ? Google Tag Manager Setup Kaise Kare ? एवं Google Tag Manager Me Google Analytics Tag कैसे Add करें ?

Google Tag Manager Kya Hai

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *